Unique Wedding Card: अंतर्देशीय पत्र पर गढ़वाली भाषा में छपवाया बेटे की शादी का निमंत्रण, दिया ये खास संदेश

Share this on your social network proudly:

कभी लोग अंतर्देशीय पत्र भेजकर अपने सगे संबंधियों की कुशल क्षेम पूछते थे। तकनीकी युग के साथ यह पत्र धीरे-धीरे विलुप्त हो गया। समय के साथ-साथ नई पीढ़ी गढ़वाली भाषा भी भूलती जा रही है। विकास की भागदौड़ में गांव के गांव पलायन कर गए हैं।